Top 10

rsz_da_library-3759.jpg

adminApril 17, 20192min00

दूर तक के सफर के लिए हवाई जहाज से अच्छा कुछ भी नहीं हैं, कम समय में आप एक जगह से दूसरी जगह तक जल्दी पहुंच सकते हैं। वहां लगभग हर सुविधा होती है ताकि आपकी फ्लाइट के आने तक आपको कोई असुविधा ना हो। इसके बाद फ्लाइट आने पर तुरंत वहां से निकल जाते हैं क्योंकि रुकने का कोई कारण भी नहीं है। लेकिन विश्व में कुछ एअरपोर्ट ऐसे भी हैं जो आपको रुकने का कारण दे रहे हैं और वो कारण है उनकी खूबसूरती। ये एअरपोर्ट इतने सुन्दर बनाए गए हैं कि आप इन्हें देखकर कहेंगे कि, “छोड़ो फ्लाइट, थोड़ा यहीं घूम लेते हैं।”

Incheon International Airport, Incheon, South Korea


Dubai World Central International Airport, Dubai, UAE


Menara International Airport, Marrakech, Morocco


Denver International Airport, Colorado, USA


Bilbao Airport, Bilbao, Spain


Carrasco International Airport, Montevideo, Uruguay


TWA Terminal, John F. Kennedy International Airport, New York, USA


Terminal 4, Madrid-Barajas International Airport, Madrid, Spain


Terminal 3, Beijing Capital International Airport, China



 

Kansai International Airport, Osaka, Japan



chris-555_020519113751.jpg

adminFebruary 11, 20193min00

वैसे खूबसूरती तो देखने वाले की आंखों में होती है इसलिए ‘सुटेबल बॉय’ की तलाश कभी भी और कहीं भी पूरी हो सकती है. हालांकि, कई सर्वे के आधार पर कुछ देशों के मर्दों को सबसे ज्यादा आकर्षक और हैंडसम बताया गया है. अगर आपको भी रोमांटिक हैंडसम पार्टनर की तलाश है तो आपको इन 10 देशों की सैर करने जाना होगा.

 

दुनिया के 10 देश जहां के पुरुष माने जाते हैं सबसे सेक्सी

 

इटली-
पूरी दुनिया में इटली के पुरुषों को सबसे हैंडसम माना जाता है. डार्क लुक और अपने फैशन सेंस की वजह से इटालियन पुरुष इस लिस्ट में सबसे ऊपर हैं. ये अपने रोमांटिक अंदाज के लिए और भी ज्यादा पॉपुलर हैं. अगर फिर भी यकीन ना हो तो कैसोनोवा का नाम याद कर लीजिए!

 
दुनिया के 10 देश जहां के पुरुष माने जाते हैं सबसे सेक्सी

 

स्पेन-
डार्क हेयर और ब्राइट आईज..स्पैनिश स्पोर्ट्स के दीवाने होते हैं और इन्हें अक्सर फुटबॉल खेलते देखा जा सकता है. इनकी फिटनेस किसी को भी अपना दीवाना बनाने के लिए काफी है.

 

दुनिया के 10 देश जहां के पुरुष माने जाते हैं सबसे सेक्सी
 

इंग्लैंड-
ब्रिटिश बहुत ही विनम्र और मैनर्ड होते हैं. अगर आपको राजकुमारी की तरह का ट्रीटमेंट चाहिए तो फिर आप किसी ब्रिटिशर्स को डेट कर सकती हैं. यहां के लोगों की स्ट्रॉन्ग जॉ लाइन, स्पार्कलिंग आईज और फैशन सेंस इन्हें इस लिस्ट में शामिल कराती हैं.

 

दुनिया के 10 देश जहां के पुरुष माने जाते हैं सबसे सेक्सी
 

ऑस्ट्रेलिया-
अगर हैंडसम पुरुषों की तलाश है तो ऑस्ट्रेलिया आपको निराश नहीं करेगा. इस बात को साबित करने के लिए क्रिस हेम्सवर्थ की मिसाल ही काफी है.

 

दुनिया के 10 देश जहां के पुरुष माने जाते हैं सबसे सेक्सी
 

साउथ अफ्रीका-
इस देश में दुनिया के सबसे हॉट पुरुष मिल जाएंगे. इस देश में लंबे कद-काठी और आत्मविश्वास से भरपूर पुरुषों की कमी नहीं है.

 

 
दुनिया के 10 देश जहां के पुरुष माने जाते हैं सबसे सेक्सी
 

जर्मनी-

इनका ऐटीट्यूड इन्हें सबसे खास बनाता है. ये अपनी फिटनेस को लेकर बहुत क्रेजी होते हैं. जर्मन पुरुषों का ड्रेसिंग सेंस भी बहुत शानदार होता है.

 

दुनिया के 10 देश जहां के पुरुष माने जाते हैं सबसे सेक्सी
 

जापान-
दुनिया के सबसे टॉप मॉडल्स जापान से ही आते हैं. यहां के पुरुष अपने लुक्स और फैशन को लेकर बहुत सजग रहते हैं. अच्छी डाइट और एक्सरसाइज इनकी नियमित दिनचर्या में सबसे खास जगह रखती है.

 

दुनिया के 10 देश जहां के पुरुष माने जाते हैं सबसे सेक्सी
 

यूएसए-
यूएसए में आपको अलग-अलग टेस्ट के लोग मिल जाएंगे. हॉलीवुड में दिखने वाले हीरो यहां रियल लाइफ में भी मिल सकते हैं.

 

दुनिया के 10 देश जहां के पुरुष माने जाते हैं सबसे सेक्सी

 

फ्रांस-
फ्रांस में ही रोमांस का जन्म हुआ. फ्रेंच दुनिया की सबसे रोमांटिक भाषा भी कही जाती है. इन्हें इंटेलेक्चुअल माना जाता है. स्मोकी लुक्स इन्हें इस लिस्ट में शामिल कराता है.

 

 
दुनिया के 10 देश जहां के पुरुष माने जाते हैं सबसे सेक्सी
 

तुर्की-

तुर्की के पुरुषों की पर्सनैलिटी शानदार होती है. मेहमत गुंसुर को देखकर आप तुर्कियों के बारे में अंदाजा लगा सकते हैं.


forbes-india-celeb-rich-list-salman-rules-deepika-only-woman-among-top-10-while-srk-drops-out.jpg

adminDecember 5, 20183min00

Forbes: सलमान ने दी कोहली को मात, बने सबसे अमीर सेलेब

1. सलमान खान:

टॉप 100 की लिस्ट में सलमान खान 253.25 करोड़ सालाना कमाई साथ पहले नंबर पर हैं

Forbes: सलमान ने दी कोहली को मात, बने सबसे अमीर सेलेब

 
2. व‍िराट कोहली:
 
टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की सालाना कमाई 228.09 करोड़ रुपये है और वह लिस्ट में दूसरे नंबर पर हैं.
 
Forbes: सलमान ने दी कोहली को मात, बने सबसे अमीर सेलेब
 
3. अक्षय कुमार:
 
बॉलीवुड के ख‍िलाड़ी अक्षय कुमार 185 के साथ तीसरे नंबर पर हैं. 2017 में  98.25 करोड़ अक्षय की कमाई रही.
 
Forbes: सलमान ने दी कोहली को मात, बने सबसे अमीर सेलेब
 
4. दीप‍िका पादुकोण:
 
बॉलीवुड की अदाकारा दीप‍िका पादुकोण टॉप 10 की सूची में अकेली फीमेल सेलेब्स हैं. अपने पत‍ि रणवीर स‍िंह को भी कमाई के मामले में दीप‍िका ने पीछे छोड़ द‍िया है. उनकी सालाना कमाई 112.8 करोड़ रुपये है. 2017 में  दीप‍िका की कमाई 59.45 करोड़ रही है.
 
Forbes: सलमान ने दी कोहली को मात, बने सबसे अमीर सेलेब
 
5. महेंद्र स‍िंह धोनी:
 
कैप्टन कूल धोनी 101.77 करोड़ सालाना कमाई के साथ ल‍िस्ट में पांचवें पायदान पर हैं.
 
Forbes: सलमान ने दी कोहली को मात, बने सबसे अमीर सेलेब
 
6. आमि‍र खान:
 
97. 50 करोड़ की कमाई के साथ आमिर छठे पायदान पर हैं.
 
Forbes: सलमान ने दी कोहली को मात, बने सबसे अमीर सेलेब
 
7. अमिताभ बच्चन:
 
96.17 करोड़ की कमाई के साथ ब‍िग बी सातवें पायदान पर हैं.
 
Forbes: सलमान ने दी कोहली को मात, बने सबसे अमीर सेलेब
 
8. रणवीर सिंह:
 
84.7 करोड़ की सालाना कमाई के साथ रणवीर आठवें पायदान पर हैं.
 
Forbes: सलमान ने दी कोहली को मात, बने सबसे अमीर सेलेब
 
9. सचिन तेंदुलकर:
 
80 करोड़ की सालाना कमाई के साथ मास्टर ब्लास्टर 9वीं पोजीशन पर हैं.
 
Forbes: सलमान ने दी कोहली को मात, बने सबसे अमीर सेलेब
 
10. अजय देवगन:
 
बॉलीवुड के स‍िंघम 74.5 करोड़ की सालाना कमाई के साथ टॉप 10 नंबर में हैं.
 
 
दुनिया में कम ही लोग कुछ मज़ेदार पढ़ने के शौक़ीन हैं। आप भी पढ़ें। हमारे Facebook Page को Like करें – www.facebook.com/iamfeedy

555124_112618065655.jpg

adminNovember 27, 20184min00
 

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज (बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी) 6 दिसंबर से शुरू होगी. ये दोनों ही टीमें जब भी क्रिकेट के मैदान पर भिड़ती हैं, तो बात सिर्फ गेंद और बल्ले की नहीं होती. मामूली तू-तू मैं-मैं से लेकर अंपायर के फैसलों पर विवाद, अकसर ही सुर्खियों का हिस्सा बन जाती है. इन विवादों ने दोनों देशों के बीच की प्रतिस्पर्धा का रोमांच ही बढ़ाया है.       

आइए एक नजर भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 10 विवादों पर.

11 मौके, जब भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी मैदान पर भिड़ गए
 
जब सुनील गावस्कर को गुस्सा आ गया
 
1981 के मेलबर्न टेस्ट में भारत की जीत एक अजीबो गरीब कारण से सुर्खियों में आ गई थी. सुनील गावस्कर अंपायर के फैसले से इतने नाराज हो गए कि अपने साथी बल्लेबाज चेतन चौहान को लेकर पवेलियन लौट आए. दरअसल, अंपायर रेक्स व्हाइटहेड ने डेनिस लिली की गेंद पर सुनील गावस्कर को एलबीडबल्यू आउट करार दिया. लिटिल मास्टर फैसले से खुध नहीं थे, नाराज होकर दूसरे छोर पर मौजूद चौहान को पवेलियन वापस लौट चलने को कहा. चौहान ने भी अपने कप्तान की बात मानी. स्थिति बिगड़ता देख भारतीय टीम मैनेजमेंट तुरंत एक्शन में आई. चेतन चौहान को दोबारा मैदान पर भेजा गया. इस वाकये के बारे में गावस्कर ने बाद में बताया कि उनकी नाराजगी फैसले से नहीं बल्कि लिली द्वारा की गई निजी टिप्पणियों से थी.
 
11 मौके, जब भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी मैदान पर भिड़ गए
 
मैक्ग्रा के बाउंसर पर तेंदुलकर एलबीडब्ल्यू आउट
 
ऑस्ट्रेलिया में 1999-00 सीरीज को सचिन तेंदुलकर बनाम ग्लेन मैक्ग्रा के तौर पर देखा जा रहा था. मैक्ग्रा सीरीज तो कई बार सार्वजनिक तौर पर कह चुके थे कि वह सचिन को आउट करेंगे. एडिलेड टेस्ट में मैक्ग्रा ने सचिन को अपना शिकार बनाया भी, पर विवाद यह था कि अंपायर डेरल हार्पर ने मास्टर ब्लास्टर को एक बाउंसर गेंद पर एलबीडबल्यू करार दिया था. हुआ यूं की मैक्ग्रा ने बाउंसकर फेंका, पर गेंद थोड़ी नीची रही. बाउंसर समझकर तेंदुलकर गेंद से बचने की कोशिश कर रहे थे, जिस दौरान यह उनके कंधे से जा टकराई. मैक्ग्रा ने अपील किया और सचिन आउट करार दिए गए. इस फैसले ने विवाद को जन्म दे दिया. क्रिकेट जगत से लेकर फैंस के बीच इस फैसले पर जमकर चर्चा हुई.
 
11 मौके, जब भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी मैदान पर भिड़ गए
 
टॉस के वक्त देरी से पहुंचते थे गांगुली!
 
2001 के ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज के दौरान दोनों देशों के बीच एक अजीब सा तनाव था. बाद में पता चला कि इसकी वजह टॉस पर गांगुली का बार-बार लेट पहुंचना था. तत्कालीन ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव वॉ ने अपनी आत्मकथा ‘आउट ऑफ माइ कंफर्टजोन’ में खुलासा किया कि गांगुली बार-बार टॉस पर लेट आते. उन्होंने आरोप लगाया कि गांगुली ने वनडे और टेस्ट सीरीज के दौरान कुल 7 बार ऐसा किया. हालांकि गांगुली ने कई सालों बाद इस मामले पर चुप्पी तोड़ी. उन्होंने कहा कि वह जानबूझकर ऐसा नहीं करते थे.
 
11 मौके, जब भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी मैदान पर भिड़ गए
 
कुंबले का बाउंसर
 
2008 के विवादित सिडनी टेस्ट के बाद भारतीय कप्तान अनिल कुंबले खासे नाराज थे. उन्होंने यहां तक कह दिया कि मैदान पर सिर्फ एक टीम खेल के भावना के साथ खेल रही थी. यह मैच भारत-ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट इतिहास में सबसे विवादित मैचों से एक है. दरअसल. यह टेस्ट घटिया अंपायरिंग और मंकीगेट विवाद के कारण सुर्खियों में रहा. अंपायर द्वारा मैच के दौरान कई गलत फैसले किए गए जिसका खामियाजा भारत को भुगतना पड़ा. इस दौरान ऑस्ट्रेलियाई टीम का भी रवैया सवालों के घेरे में रहा.
 
11 मौके, जब भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी मैदान पर भिड़ गए
 
सायमंड्स-हरभजन मंकीगेट विवाद
 
शायद किसी ने भी नहीं सोचा होगा कि एंड्रयू सायमंड्स और हरभजन सिंह के बीच हुई मामूली बहस ऐसा रूप अख्तियार कर लेगी कि बात भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे से वापस लौटने तक पहुंच जाएगी. ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज का आरोप था कि ऑफ स्पिनर ने उन्हें मंकी (बंदर) कहा था और यह नस्लभेदी है. मामला सिडनी कोर्ट तक पहुंच गया. आरोपों की जांच के लिए एक अनुशासनात्मक पैनल का गठन किया गया. इस दौरान ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ने भज्जी के बारे में उल्टी-सीधी बातें लिखी गईं, वहीं बीसीसीआई ने तो दौरे को बीच में ही खत्म करने की धमकी दे डाली. हरभजन पर पहले तीन टेस्ट मैच का बैन लगा जिसे बाद में हटा लिया गया.
 
11 मौके, जब भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी मैदान पर भिड़ गए
 
क्या गंभीर ने वॉटसन को जानबूझकर कोहनी मारी?
 
2008 में ऑस्ट्रेलिया का भारत दौरा बड़े विवादों से दूर रहा. पर दिल्ली टेस्ट के दौरान कुछ ऐसा हुआ जिसने एक बार फिर दोनों टीम के खिलाड़ियों के रिश्तों में खटास पैदा करने का काम किया. टेस्ट मैच के दौरान गौतम गंभीर को कंगारुओं ने अपनी स्लेजिंग का शिकार बनाया, खासकर ऑल राउंडर शेन वॉटसन ने. इससे नाराज गंभीर ने दो रन लेने के दौरान वॉटसन को कोहनी मार दी. उन्होंने ऐसा जानबूझकर किया था, इसका कोई सबूत नहीं है. लेकिन मैच रेफरी ने मामले पर कार्रवाई की और दोहरा शतक जड़ने वाले गंभीर को अगले मैच के लिए बैन कर दिया गया.
 
11 मौके, जब भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी मैदान पर भिड़ गए
 
जहीर ने लांघी लक्ष्मण रेखा
 
2008 में मोहाली टेस्ट में हरभजन ने मैथ्यू हेडन को आउट किया तो भारतीय खिलाड़ी जश्न मनाने लगे. इस दौरान जहीर कुछ अजीब ही अंदाज में सेलिब्रेट करने लगे. हेडन चुपचाप पवेलियन की ओर लौट गए, पर मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड चुप नहीं रहे. उन्होंने जहीर खान के इस व्यवहार को खेल भावना के खिलाफ बताते हुए उनपर मैच फीस का 80 फीसदी जुर्माना लगाया.
 
11 मौके, जब भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी मैदान पर भिड़ गए
 
जब उलझ पड़े जहीर और पोंटिंग
 
2010 में मोहाली टेस्ट के दौरान जहीर और रिकी पोंटिंग के बीच हुई बहस ने सीरीज का तापमान बढ़ाने का काम किया. रन आउट होने के बाद पोंटिंग ड्रेसिंग रूम की ओर बढ़ रहे थे. इस दौरान जहीर ने पोंटिंग पर कुछ टिप्पणी की जिससे वह नाराज हो गए. वह पीछे मुड़े और जहीर के पास आकर कुछ कहने लगे. दोनों खिलाड़ियों के बीच थोड़ी देर बहस भी हुई, हालांकि अंपायर बिली बॉडेन ने पूरा मामला संभाल लिया.
 
11 मौके, जब भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी मैदान पर भिड़ गए
 
जब विराट ने मिडिल फिंगर दिखाई
 
2011-12 में भारत का ऑस्ट्रेलिया दौरा प्रदर्शन के लिहाज से बेहद ही खराब रहा. साथ ही विराट कोहली के व्यवहार ने खेल का मजा किरकिरा करने का काम किया. सीरीज के दूसरे टेस्ट से कोहली की एक तस्वीर सामने आई, जिसमें उन्हें पवेलियन में मौजूद दर्शकों को मिडिल फिंगर दिखाते हुए देखा जा सकता था. इस व्यवहार के कारण विराट कोहली पर मैच फीस का 50 फीसदी जुर्माना लगाया गया. अपनी बात कहने के लिए विराट कोहली ने ट्विटर का इस्तेमाल किया. उन्होंने ट्वीट किया था, ‘मैं मानता हूं कि क्रिकेटरों को प्रतिक्रिया नहीं देनी चाहिए. लेकिन जब दर्शक आपकी मां और बहन के बारे में बेहद ही भद्दी टिप्पणी करें, तब क्या?’
 
11 मौके, जब भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी मैदान पर भिड़ गए
 
कोहली-स्मिथ के बीच झड़प और DRS विवाद
 
साल 2017 में जब ऑस्ट्रेलियाई टीम भारत दौरे पर चार मैचों की टेस्ट सीरीज खेलने आई तो बेंगलुरु में दूसरे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ ने मैच के दौरान डीआरएस के इस्तेमाल के लिए ड्रेसिंग रूम में बैठे सहयोगी स्टाफ से मदद लेने के लिए इशारा किया, जो लैपटॉप और टीवी पर नजरें टिकाए हुए थे. बेंगलुरु टेस्ट में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 75 रनों से जरूर मात दी, लेकिन डीआरएस पर दोनों कप्तानों के बीच तनातनी ने खिलाड़ियों का ध्यान विवाद की और मोड़ दिया. विराट ने डीआरएस मुद्दे पर स्टीव स्मिथ पर निशाना साधा और धोखेबाज कहा. ऑस्ट्रेलियाई मीडिया और पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने भारतीय कप्तान पर लगातार दबाव बनाने की कोशिश की. (‘द डेली टेलीग्राफ’ में प्रकाशित एक लेख में विराट कोहली को डोनाल्ड ट्रंप बताया गया. कहा कि विराट अपने हिसाब से रूल्स में बदलाव कर रहे हैं. आईसीसी इस समय विराट का बाल भी बांका नहीं कर पा रही है) लगातार जारी जुबानी जंग में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख जेम्स सदरलैंड भी शामिल हो गए. उन्होंने कोहली का मजाक उड़ाते हुए कहा कि विराट को ‘सॉरी’ कहना नहीं आता. मुझे नहीं लगता उन्हें इस शब्द की स्पेलिंग भी आती है. इसके बाद विराट कोहली को रांची में कंधे में चोट लगी, जिसका ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने मैदान पर जमकर मजाक उड़ाया. ग्लेन मैक्सवेल ने तो उनके कंधे की चोट की नकल भी उतारी. ये आरोप भी लगे कि उन्होंने स्पोर्ट स्टाफ पर बोतल भी फेंकी. धर्मशाला टेस्ट के पहले दिन कप्तान विराट कोहली टीम के खिलाड़ियों के लिए एनर्जी ड्रिंक्स लेकर गए थे. पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ब्रेंडन जूलियन और ब्रैड हैडिन ने कोहली के इस कदम पर सवाल उठाए. जूलियन ने कहा कि कोहली काफी अच्छे कप्तान हैं और चोटिल भी हैं, ऐसे में उनका मैदान पर ड्रिंक्स लेकर जाना शोभा नहीं देता है.
 
 
दुनिया में कम ही लोग कुछ मज़ेदार पढ़ने के शौक़ीन हैं। आप भी पढ़ें। हमारे Facebook Page को Like करें – www.facebook.com/iamfeedy

kirti.jpg

adminNovember 16, 20183min00

#1.तिलरत्ने दिलशान. नाम तो सुना ही होगा. श्रीलंका का वो क्रिकेटर जिसने बल्ले और गेंद से अपनी टीम को कई मैच जिताए. दिलशान का विकेटकीपर के सिर के ऊपर से स्कूप शॉट खेलना याद है न, जिसे इन्हीं ने ईज़ाद किया था और इन्हीं के नाम से दिलस्कूप शॉट पॉपुलर हुआ था. 1999 से लेकर 2016 तक दिलशान ने श्रीलंका के लिए 87 टेस्ट, 330 वनडे और 80 टी20 इंटरनेशनल खेले हैं कई साल कप्तानी भी की. आप सोच रहें होंगे कि आज दिलशान की बात क्यों? क्योंकि दिलशान ने राजनीति में एंट्री मारी है. 42 साल के दिलशान ने श्रीलंका की श्रीलंका पीपुल्स पार्टी जॉइन की है. कुछ दिन पहले इसी पार्टी को पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने भी जॉइन किया है. ये खबर है कि दिलशान अब इस पार्टी की टिकट से कालुतारा जिले से चुनाव भी लडेंगे. आइए इसी बहाने जान लेते हैं कि क्रिकेट के किन चेहरों ने राजनीति में भी हाथ आजमाया है.

Cricketers who entered politics after a successful cricketing career

#2. दिलशान के बाद नाम एक और श्रीलंकाई क्रिकेट हीरो का. यानी अर्जुन रणतुंगा का. श्रीलंका के लिए 93 टेस्ट और 269 वनडे खेलने वाले रणतुंगा ने श्रीलंका की यूनाइटेड नेशनल पार्टी से 2010 में चुनाव लड़ा, जीते और इसी साल 26 अक्टूबर तक देश के पैट्रोलियम मिनिस्टर भी रहे. देश में चल रहे राजनीतिक कोहराम में वो जेल भी गए.

Untitled design (6)

 
 
दुनिया में कम ही लोग कुछ मज़ेदार पढ़ने के शौक़ीन हैं। आप भी पढ़ें। हमारे Facebook Page को Like करें – www.facebook.com/iamfeedy

424218-082239.jpg

adminNovember 15, 20183min00

नेहरू. नरेंद्र. दो शख्स. दो शख्सियतें. एक देश के पहले प्रधानमन्त्री एक देश के (अब तक के) अंतिम. एक कांग्रेस से एक भाजपा से. दोनों के बीच अंतर ढूंढने चलें तो इतने मिलेंगे कि एक स्टोरी नहीं उस पर शायद एक सीरीज़ चल पड़े. लेकिन हमें दोनों के बीच कुछ स्ट्राइकिंग समानताएं भी पता लगी हैं. सो मच सो कि ऐसा लगता है कि जवाहर लाल नेहरू के धुर विरोधी नरेंद्र दामोदर मोदी पूरी तरह उनका अनुसरण करते हुए लगते हैं. और हम कोई स्वीपिंग कमेंट्स नहीं दे रहे हैं. हम तथ्यों के साथ समानताएं बता रहे हैं. और जहां पर समानताएं होती हैं वहां पर ये कहना कतई अनुचित नहीं कि वर्तमान, अतीत का अनुसरण कर रहा है. तो आइए देखें कैसे –

 

# फैशन –

कहते हैं कि इतिहास अपने को दोहराता है, और ये भी कहते हैं कि फैशन लौट कर वापस आता है. बाकी हमसे ज़्यादा ये फोटो बोलती हैं. पहले नेहरू जैकेट के नाम से फेमस ये फैशन अब नाम बदलावों के इस दौर में मोदी जैकेट के नाम से जाना जाता है.

 

 

# फैशन टू पॉइंट ओ –

दोनों ही प्रधानमंत्री नॉर्थ ईस्ट के के प्रति ह्रदय में एक अलग की (अच्छी) भावनाएं क्रमशः रखते थे और रखते हैं. दोनों की नॉर्थ ईस्ट विज़िट की तस्वीरों पर गौर फरमाएं.

 

 

# नियति से साक्षात्कार –

दो राष्ट्र के नाम संदेश भारत के इतिहास में स्वर्णाक्षरों से अंकित हो गए हैं. एक नेहरू का आज़ादी से एक दिन पहले का, जिसका नाम था ट्रिस्ट विद डेस्टिनी यानी नियति से साक्षात्कार और दूसरा नोटबंदी से एक दिन पहले का जिसका कोई नाम नहीं था. दोनों की एक लाइन बहुत प्रसिद्ध हुई. और वो एक लाइन, वो एक उद्घोष अक्षरशः समान है – एट दी स्ट्रोक ऑफ़ मिडनाईट… और आज रात बारह बजे के बाद…

 

 

# बाघ-बाघ देखो –

दोनों ही का पशु प्रेम अतुलनीय है. लेकिन इन दोनों ‘अतुलनीयता’ में भी इतना स्पेस था कि इनकी एक दूसरे से तुलना की जा सकती थी. हाथ कंगन को आरसी क्या, पढ़े लिखे को फ़ारसी (सॉरी हिंदी) क्या. तस्वीरें देख लें –

 

 

# स्टैचू ऑफ़ यूनिटी –

सरदार पटेल की पहली प्रतिमा उनके उप-प्रधानमंत्री रहते 1949 में गोधरा में स्थापित की गई थी. जिसका अनावरण नेहरू ने 22 फरवरी 1949 को किया था. गोधरा में ही पटेल की गांधी से पहली मुलाकात हुई थी, 1917 में. बाकी मोदी जी वाली पटेल प्रतिमा तो वर्ल्ड रिकॉर्ड वाली है. उसे कौन नहीं जानता?

 

 

# योग –

योग को लेकर मोदी का प्रेम तो सब जानते ही हैं. नेहरू शीर्षासन किया करते थे. मोदी को मुश्किल लगा होगा तो शवासन कर लिया. जाकी रही भावना जैसी…

 

 

# फेक न्यूज़ –

फेक न्यूज़ में अगर फर्स्ट प्राइज मोदी को मिलता है तो सेकेंड प्राइज़ नेहरू को या अगर नेहरू फर्स्ट आते हैं तो मोदी बहुत कम मार्जिन से हारते हैं. लेकिन चूंकि बड़ी लकीर ही छोटी और छोटी लकीर ही बड़ी की जा सकती है, इसलिए मोदी की फेक न्यूज़ ज़्यादातर पॉजिटिव और नेहरू की ज़्यादातर नेगेटिव होती हैं.

 

 

# क्रिकेट –

एक तरफ मोदी जी के नारे क्रिकेट स्टेडियम में गूंजते हैं दूसरी तरफ नेहरू बल्ला पकड़े हुए पाए जाते हैं. क्रिकेट भारत का दूसरा धर्म है और धर्म भारत की पहली राजनीति इसलिए कनेक्शन के ऐसे वायर व्हिच ऑलवेज कैचेज़ फायर.

 

 

# साहित्य –

सृष्टि से पहले कुछ नहीं था…

नहीं-नहीं ये दोनों में से किसी ने नहीं लिखा है. लेकिन इस गीत की यादें जुड़ी हुई हैं दूरदर्शन में आने वाले एक धारावाहिक से. जिसका नाम था भारत एक खोज. ये नेहरू के द्वारा रचित उपन्यास डिस्कवरी ऑफ़ इंडिया का ही नाट्य रूपांतरण था. इसके अलावा भी नेहरू ने काफी कुछ लिखा. जैसे ग्लिंप्स ऑफ़ वर्ल्ड हिस्ट्री, लेटर्स फ्रॉम फादर टू हिज़ डॉटर, आदि-आदि…

 

 

वहीं मोदी जी की रीसेंट किताब का नाम है – एग्जाम वॉरियर्स. इसके अलावा उनकी कुछ प्रमुख पुस्तकें हैं – अ जर्नी (कविता संग्रह), ज्योतिपुंज, आदि-आदि…

 

# चाचा नेहरू और काका मोदी –

नेहरू भारत के सभी बच्चों के लिए चाचा नेहरू हैं. इतने कि उनके जन्मदिन को ‘चिल्ड्रन्स डे’ के रूप में मनाया जाता है. वहीं दूसरी तरफ मोदी जी चाहते हैं कि उनको बच्चे काका बुलाएं. जनसत्ता की एक खबर के अनुसार बच्चों को बाकायदा रटवाया गया था कि बड्डे वाले दिन प्रधानमंत्री मोदी को मोदी काका कहकर पुकारा जाए.

 

 

दुनिया में कम ही लोग कुछ मज़ेदार पढ़ने के शौक़ीन हैं। आप भी पढ़ें। हमारे Facebook Page को Like करें – www.facebook.com/iamfeedy

v57PoNBSIMbrca78MuYw.jpeg

adminNovember 3, 20185min00

दिवाली हिन्दू धर्म का सबसे विशेष त्यौहार है। इस त्यौहार में लोग गणेश और लक्ष्मी की बड़े श्रद्धाभाव से पूजा करते हैं। घर में मिठाईयां मंगाई जाती हैं, अच्छे पकवान बनाए जाते हैं। लोग एक दूसरे के घर त्यौहार की मुबारकबाद देने पहुँचते हैं। इन सब के बीच जो सबसे ख़ास बात है वो ये की हर घर में सजावट के लिए भी काम किया जाता है।

आमतौर पर दिवाली की तैयारी त्यौहार से हफ्ते भर पहले ही शुरू कर दी जाती है। सबसे पहले घरों में सफाई का काम होता है फिर दीवारों पर नए रंग दिए जाते हैं। असल परीक्षा शुरू होती है छोटी दिवाली और दिवाली के दिनों पर। पुराने जमाने में दीयों और फूलों के सहारे सजावट की जाती थी। जैसे-जैसे जमाना बदला सजावट के तरीके भी बदल गए। आइए आज हम बात करते हैं दिवाली पर होने वाली सजावट की। साथ ही बात करेंगे ट्रेंड में चल रहे नए सामानों की जो आपकी दिवाली में रोशनी भर देंगे।

 

झालर-लड़ी

 

 

झालर और लड़ियाँ लगाने का दौर दीयों और मोमबत्ती के बाद का दौर है। जब बिजली घर-घर तक पहुंची तो लोगों ने दिवाली के दिनों में छोटे-छोटे बल्ब की लड़ियां लगाना शुरू कर दिया। आप भी इस दिवाली रंग-बिरंगे LED वाले झालर लाकर घर को नया मिजाज दे सकते हैं।

 

रंगीन असबाब

 

 

दिवाली में सब घर की सफाई का ध्यान रखते हैं। साथ ही चादरों, तकिए के कवर और पर्दों को भी बदला जाता है। ये सब बदलते हुए अगर जरा सा ध्यान रखा जाए और इन्हें एक रंग-बिरंगा अंदाज दे दिया जाए तो पूरे घर का लुक बदल सकता है।

 

बंदनवार की सजावट

 

 
 
बंदनवार या कहें की तोरण से आप दिवाली के वक़्त अपने घर को एक अलग लुक दे सकते हैं। तोरण सामान्यतः घर पर ही बुने जाते हैं या इन्हें बाजार से भी ख़रीदा जा सकता है। इन्हें घरों के बाहर टांग दिया जाता है। बंदनवार को अमूमन लोग आम की पत्तियों और फूलों के साथ सजाते हैं।

 

बलून टुआइन लाइट्स

 

 
 
बलून लाइट भी आजकल सजावट के लिए ट्रेंड में है। इसे बाजार से खरीदा जा सकता है। साथ ही आप इसे खुद भी आसानी से बना सकते हैं। ये लाइट्स दिवाली पर आपके घर को नई रंगत प्रदान करेंगी। त्यौहार बीतने के बाद भी बाद इन लाइट्स का इस्तेमाल हो सकता है।

 

बोतल से सजावट

 

 
 
अगर आप अपने घर की सजावट के लिए कम पैसे वाला जुगाड़ खोज रहे हैं तो कांच की बोतल से बेहतर विकल्प नहीं हो सकता। अलग-अलग बोतल में रंग-बिरंगी लड़ियां डाल कर आप अपने घर को कम पैसे में ही एक नई स्टाइल दे सकते हैं। इनका इस्तेमाल दिवाली के बाद भी किया जा सकता है।

 

रंगोली

 

 
 
रंगोली सजावट का एक पारंपरिक तरीका है। इसके बिना आज भी दिवाली पूरी नहीं होती। ज्यादातर लोग इसे बनाने के लिए रंग-बिरंगे गुलाल या रंगीन चावलों का इस्तेमाल करते हैं। जिन्हें रंगोली बनाने का गुर नहीं पता उनके लिए बाजार में इसके पैटर्न मिल जाते हैं। जिसकी मदद से आसानी से रंगोली बनाई जा सकती है।
 

फूल से सजावट

 

 
 
जब दिवाली नहीं मनाई जाती होगी उसके पहले से सजावट में फूलों का इस्तेमाल हो रहा है। ये घर को एक अलग महक और अंदाज दे देते हैं। इस दिवाली आप भी फूलों के द्वारा घर की सजावट कर लोगों पर धौंस जमा सकते हैं।

 

फ्लाइंग लालटेन

 

 
 
ये भी नए दौर का नया अंदाज है। अगर आप अपने घर में लाइट्स के साथ-साथ अन्य सजावट के इंतजाम कर रहे हैं तो बाजार से हवा में उड़ने वाली ये लालटेन ला सकते हैं और उन्हें एक साथ छोड़कर आसमान में भी रौशनी बिखेर सकते हैं।

 

 

ये मुख्यतः कागज के बनाये जाते हैं जिनके नीचे वाला हिस्सा खुला होता है। इनके भीतर जल रही फ्लेम अन्दर मौजूद हवा को गर्म कर देती है और और उसके भीतर का घनत्व कम हो जाता है। हवा हल्की होते ही लालटेन ऊपर उठने लगता है।

 

दीया

 

 

दीया या दीप जिससे बना दीपावली या कहें दिवाली। जब बिजली जैसी चिड़िया का अता-पता नहीं था तब दीया घरों में रौशनी के लिए काम में लाया जाता था। पहले इसे पूजा-पाठ का हिस्सा बनाया गया। बाद में इनकी ढेरों संख्या एक कतार में लगा कर सजावट के लिए भी इस्तेमाल किया जाने लगा।

 

 
 
आज भी हर दिवाली कम संख्या में ही सही पर सजावट के लिए दीये का इस्तेमाल होता ही है। इनमें अब कई फैंसी और रंग-बिरंगे दीये भी बाजार में उपलब्ध होने लगे जिन्हें ज्यादा संख्या में ले आकर आप अपने घर को एक पारंपरिक मिजाज दे सकते हैं।

 

मोमबत्ती 

 

 
 
दिवाली पर मोमबत्ती से की जाने वाली सजावट अब आम बात हो गयी है। लेकिन अगर बाजार में जाकर नजर दौड़ाएंगे तो पारंपरिक मोमबत्तियों के अलावा आपको ढेरों फैंसी विकल्प भी दिखेंगे। आजकल मोमबत्तियों में बेहद सुन्दर वेराइटी उपलब्ध हैं जिनकी मदद से घर का पूरा अंदाज बदल सकता है।
 
 
दुनिया में कम ही लोग कुछ मज़ेदार पढ़ने के शौक़ीन हैं। आप भी पढ़ें। हमारे Facebook Page को Like करें – www.facebook.com/iamfeedy

Rr3LnCIB5LyTCe4Chx77.jpeg

adminOctober 29, 20189min00

वैसे तो देश और दुनिया में कई स्थान हैं। इनमें से कुछ अच्छे हैं तो कुछ खतरनाक। कुछ रास्ते ऐसे हैं जहां कोई भी गाड़ी दौड़ा सकता है तो कुछ सड़कें ऐसी भी हैं जिन्हें देखकर ही अच्छे से अच्छे ड्राइवर के पसीने छूट जाए। कारण है इन रास्तों पर मौजूद खतरा।

पहली बार में देखने पर अधिकांश रास्ते खूबसूरत जान पड़ते हैं। मगर खूबसूरती ही तो खतरनाक होती है ना। बहरहाल आज हम आपको ऐसे ही कुछ रास्तों के बारे में बताने वाले हैं। कुछ सड़कें तो इतनी खतरनाक हैं कि यहां ड्राइव करने से पहले लोग कई बार सोचते हैं। 

कहीं समुद्र के पानी में से होकर वाहन गुजरते हैं तो कहीं पहाड़ियों पर मौजूद सड़कों से। तो फिर देर किस बात की है। आइए जानते हैं यह पूरा मामला।

 

पैसेज दू गो रोड, फ्रांस

 

फ्रांस का 4.3 किलोमीटर का पैसेज दू गो लिंक रोड अटलांटिक कोस्ट पर है। यह फ्रांस के मुख्य इलाके को आईलैण्ड से जोड़ता है। देखने में यह कितना अच्छा लग रहा है। आप भी सोचेंगे कि इसमें तो ड्राइव करना आसान है। लेकिन ऐसा नहीं है। आगे जानिए पूरी बात।

 

क्यों खतरनाक है?

 

 
यह रोड समुद्र के अंदर से गुजरी हुई है। इस रोड पर पानी रहता है। यहां से ड्राइव करना होता है।
 

आपने देखी यह रोड

 

 
कुछ इस तरह दिखती है, पानी के अंदर से यह रोड। यह रोड दिन में दो बार पानी में समा जाती है। बीच जो वाहन यहां से गुजरते हैं उन्हें ऐसे पानी से ही गुजरना होता है।
 

कुछ इस तरह

 

 
ये देखिए फोटो कुछ इस तरह गुजरते हैं वाहन। देखिए-देखिए।

 

तरोको जॉर्ज रोड, ताइवान

 

ताइवान का तरोको जॉर्ज रोड देश के सबसे खतरनाक रोड में गिना जाता है। यह रोड घुमावदार पहाड़ियों के बीच से गुजरा है। भूकंप और भारी बारिश के कारण यहां भूस्खलन बहुत होता है।

 

सबसे बड़ा चैलेंज

 

इस रोड पर सबसे बड़ा चैलेंज हैं रोड का संकरा होना। जी हां। यहां रास्ता बहुत ही ज्यादा संकरा है। इसके अलावा अंधे मोड़ भी हैं।
 

पटीओपौलो-पर्डीकाकी रोड, ग्रीस

 

यह है ग्रीस का पटीओपौलो-पर्डीकाकी रोड, 23.5 किलोमीटर लम्बे इस रोड में हर आधे किलोमीटर पर मोड़ है।

 

कुछ ऐसा हो सकता है

 

नजर हटी और दुर्घटना घटी। जी हां। थोड़ी सी भी चूक के बाद हालात ऐसे बन सकते हैं जैसे ऊपर वाली फोटो में दिख रहे हैं।
 

लक्सर अल हर्गाड़े, मिस्र

 

इजिप्ट के प्राचीन शहर को जोड़ने वाली यह रोड लक्सर अल हर्गाड़े दिखने में जितनी शानदार है, उतनी ही खतरनाक भी है। यह रोड इतने रिमोट एरिया में है कि यहां गाड़ी में या किसी को कुछ हो जाए तो दूर-दूर तक कोई सहायता नहीं मिलती। और तो और यह शहर से कटा हुआ क्षेत्र है। ऐसे में यहां पर अपराधी और आतंकी होने की आशंका भी बनी रहती है।

 

लाइट बंद करके चलाते हैं गाड़ी

 

आलम यह है कि आतंकियों और अपराधियों से बचने के लिए यहां से गुजरने वाले लोग रात में भी लाइट बंद करके गाड़ी चलाते हैं। कई बार इस दौरान एक्सीडेंट भी हो जाते हैं।

 

स्कीपर्स कैनयोन रोड, न्यूजीलैंड

 

दक्षिण-पश्चिम न्यूजीलैंड में स्थित स्कीपर्स कैनयोन रोड, न्यूजीलैंड की सबसे खतरनाक सड़क मानी जाती है। घुमावदार पहाड़ियों पर बनी इस सड़क में सुरक्षा के लिए किसी तरह की कोई रैलिंग नहीं है।
 

इतना संकरा है

 

16.5 किलोमीटर लंबा यह रोड इतना संकरा है कि अगर दो वाहन एक साथ आ जाए तो एक वाहन को वहां तक पीछे हटना पड़ता है, जहां तक दूसरे वाहन को गुजरने की जगह न मिल जाए।

 

हेलसेमे हाईवे, फिलीपिंस

 

पहाड़ियों पर बनी यह सड़क इतनी खतरनाक है कि इसे केवल मार्च और अप्रैल के महीने में ही सुरक्षित माना जाता है। कारण कि बाकी समय यहां पर भारी बारिश का माहौल होता है। इसके कारण यहां भूस्खलन होता रहता है।

 

तिआनमेन माउंटेन रोड , चाइना

 

ऊंचाइयों पर बना 11 किमी लंबा यह रोड आपको डरा भी सकता है। कारण कि इसमें 90 मोड़ ऐसे हैं जो हेयरपिन की तरह दिखते हैं।

 

मोड़ ही मोड़

 

हालांकि यह रोड अन्य खतरनाक सड़कों की तरह संकरी नहीं है। मगर इस रास्ते में कई रैलिंग लगी हुई हैं।

 

ज्यादा संकरा नहीं है

 

बावजूद इसके घुमावदार मोड़ों में वाहनों का आमने-सामने आना बेहद खतरनाक है।

 

ईयर हाईवे, ऑस्ट्रेलिया

 

लगभग 150 किमी लंबा यह हाईवे वीरान इलाकों से गुजरता है। यहां पर ऊंट और कंगारू भारी मात्रा में पाए जाते हैं।

 

पलक झपकते ही होते हैं एक्सीडेंट

 

यह रोड इतना सीधा सपाट है कि यहां हर वक्त ध्यान बनाए रखना पड़ता है। यहां तक कि रोड पर खड़े हुए वाहन चालक भी रास्ते पर नजर बनाए रखते हैं।

 

जान लेने वाली सड़क 

 

यहां बहुत एक्सीडेंट होते हैं। आलम यह है कि ऑस्ट्रेलिया के लोगों ने इस सड़क का नाम ही ‘स्लॉटर एले’ यानी जान लेने वाली सड़क रख दिया है।

 

काराकोरम हाईवे, चाइना से पाकिस्तान 

 

चीन और पाकिस्तान को जोड़ने वाली यह सड़क पहाड़ को काटकर बनाई गई है।

 

दुर्गम रास्ते

 

यह तस्वीर भी देखिए, आपको अंदाजा हो जाएगा की यह रास्ता कितना खतरनाक और जानलेवा है।

 

बर्फीला तूफान

 

यहां घना कोहरा, बर्फीला तूफान का बहुत खतरा होता है। रास्ता ऊंचाई पर होने के कारण यात्रियों को चक्कर आने और उल्टी होने की समस्या भी होती है।

 

जोजिला पास

 

लद्दाख से कश्मीर को जोड़ने वाला 9 किमी लंबा यह रास्ता बहुत ही खतरनाक है। तेज हवा और बर्फबारी यहां की समस्या में शुमार है। इस रास्ते पर गाड़ी चलाना अपने आप में खतरनाक है।

 

इंच भर दूर बैठी मौत

 

इस पास से गुजरने वाली गाडियां जरा सी चूक से हजारों फिट गहरी खाई में समा जाती हैं।

 

फंस जाते हैं वाहन

 

इस रोड पर बर्फबारी के कारण वाहन बर्फ में फंस जाते हैं या फिर बारिश होने के कारण कीचड़ में फंस जाते हैं।
 
 
दुनिया में कम ही लोग कुछ मज़ेदार पढ़ने के शौक़ीन हैं। आप भी पढ़ें। हमारे Facebook Page को Like करें – www.facebook.com/iamfeedy

Oasis-of-the-seas.jpeg

adminOctober 12, 20185min00

कुछ दशकों पहले तक क्रूज से अधिकांश लोग अनजान थे, लेकिन आज के दौर में लगभग हर कोई इनसे वाकिफ होगा। ‘टाइटैनिक’ और ‘कहो ना प्यार है’ में हीरो या हिरोइन से ज्यादा अहम रोल निभाने वाले क्रूज शिप लाखों लोगों का सपना बन चुके हैं। जमाने भर की सुविधाओं से युक्त पानी पर दौड़ते विशाल जहाज में कौन नहीं बैठना चाहता।

बदलते दौर में क्रूज इंंडस्ट्री भी काफी तेजी से बढ़ रही है। रिपोर्ट्स की मानें तो साल 2026 तक 97 नए क्रूज लॉन्च कर दिए जाएंगे। पिछले कुछ सालों में ऐसे आलीशान क्रूज शिप देखने को मिले हैं जिनके बारे में सोच पाना भी आम लोगों के लिए मुमकिन नहीं। इनकी खूबसूरती और रंग-रूप किसी जन्नत से कम नहीं होते। तो चलिए आपको ले चलते हैं सपनों की दुनिया में और करवाते हैं दुनिया के 10 सबसे आलीशान क्रूज की सैर।

 

#10 Norwegian epic

 

 
 
अपने इनोवेटिव आइडिया के लिए फेमस ये क्रूज दुनिया का दसवां सबसे बड़ा जहाज है। 4100 पैसेंजर्स की कैपेसिटी वाला ये शिप जून 2010 में लॉन्च किया गया। लगभग 40 मीटर की अधिकतम चौड़ाई वाला ये जहाज 330 मीटर लंबा और 61 मीटर ऊंचा है। इसमें आपको प्राइवेट पूल, जिम, स्पा जैसी तमाम सुविधाएं मिलती हैं। साथ ही इसमें 20 से ज्यादा डाइनिंग ऑप्शन उपलब्ध हैं।
 

#9 Liberty of the seas

 

 
 
ये एक इंटनेशनल क्रूज है, जिसमें 4960 पैसेंजर्स ट्रेवल कर सकते हैं। इस शिप में लगभग 1300 लोगों का स्टाफ काम करता है। शिप की खासियत इसमें बने अलग-अलग हिस्से हैं। हर हिस्से में खास सुविधाएं दी जाती है। 2007 में बने इस शिप में स्पा, फिटनेस सेंटर जैसी सभी आलीशान चीजें मौजूद हैं।

 

#8 Norwegian escape

 

 
 
जर्मनी में बना ये शिप Meyer werft नाम के शख्स ने बनाया था। लगभग 325 मीटर लंबा और 4266 पैसेंजर्स की कैपेसिटी वाला ये क्रूज अपनी बनावट के लिए प्रसिद्ध है। इसमें कई शानदार बालकनियां और अंडरवाटर ओसियन व्यू मौजूद है। 

 

#7 Norwegian joy

 

 

लगभग 42 मीटर की अधिकतम चौड़ाई वाला ये जहाज 334 मीटर लंबा है। ये क्रूज 20 हिस्सों में बना है, जिसमें लगभग 3883 पैसेंजर ट्रेवल कर सकते हैं। इस शिप में एक खास हिस्सा बनाया गया है, जिसे ‘हेवन’ यानी स्वर्ग के नाम से पुकारा जाता है। इसका नज़ारा वाकई किसी जन्नत से कम नहीं लगता।

 

#6 Ovation of the seas

 

 
 
2016 में लॉन्च किया गया से शिप बहुत ही कम समय में टॉप 10 की लिस्ट का हिस्सा बन गया। लगभग 348 मीटर लंबा ये क्रूज 22 नॉट्स (समुद्री गती) की स्पीड से चल सकता है। 2090 केबिन वाले इस शिप में एक साथ 4905 लोग सफर कर सकते हैं। इस क्रूज में वाटर पार्क, कसीनो जैसी कई शानदार चीजों का मजा लिया जा सकता है।

 

#5 Anthem of the seas

 

 
 
फरवरी 2015 में बनाया गया ये शिप 22 नॉट्स (समुद्री गती) की स्पीड बड़ी ही आसानी से हासिल कर सकता है। 20 हिस्सों में बंटा ये बेहतरीन शिप 4905 लोगों को साथ लेकर चलने की क्षमता रखता है। इसमें कुल 1570 कमरे हैं, जिनमें केबिन, अंडरवाटर रूम और ओसियन व्यू रूम शामिल है।
 

#4 Quantum of the seas

 

 
 
शंघाई से कोरिया और जापान तक चलने वाला ये शिप 2014 में बनाया गया था। इस शिप को बनाने का क्रेडिट भी Meyer werft को जाता है। 4180 पैसेंजर्स की क्षमता वाला ये क्रूज 16 हिस्सों में बंटा है। शिप की खासियत इसमें बने 8090 रूम और इसका बेहतरीन व्यू है।

 

#2 Allure of the seas

 

 
 
फिनलैंड में बना ये शिप दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा क्रूज कहा जाता है। 2010 में लॉन्च किए गए इस जहाज में 5400 पैसेजर्स एक साथ ट्रेवल कर सकते हैं। यहां आपको डांस हॉल, मूवी थिएटर, आइस स्केटिंग से लेकर फिटनेस रूम तक हर सुविधा मिलेगी।

 

#1 Harmony of the seas

 

 
 
फ्रांस में बना ये शिप दुनिया का सबसे बड़ा क्रूज है। लगभग 363 मीटर लंबा और 5979 कमरों वाला ये जहाज कई बालकनियों और केबिन्स में बंटा है। खास बात ये है कि जून 2016 के बाद से इस शिप ने कोई ट्रिप नहीं की, लेकिन आज भी दुनिया के सबसे बड़े क्रूज की पोजिशन पर कायम है।
 
 
दुनिया में कम ही लोग कुछ मज़ेदार पढ़ने के शौक़ीन हैं। आप भी पढ़ें। हमारे Facebook Page को Like करें – www.facebook.com/iamfeedy

2.jpg

adminOctober 1, 20181min00

पृथ्वी कई चीज़ों से मिल कर बनी है. इन सब चीज़ों की बदौलत ही एक ऐसे ग्रह का निर्माण हो पाया है, जहां जीना संभव है. आज हमारे आस-पास एक दुनिया है, कहीं बड़ी-बड़ी इमारतें हैं तो कहीं खेतों की हरियाली और किसी जगह कारखानों से निकलता धुआं हैं तो किसी जगह शांति ने अपना बसेरा नीले आसमान के नीचे बिछा रखा है.

इस लेख में हम आपको प्रकृति के ऐसे नज़ारों से वाकिफ़ करवायेंगे जिनको देखने के बाद आपकी जुबां से निकलेगा कि जन्नत तो बस यहीं है.

 

1.रूपकुंड झील

उत्तराखंड के गढ़वाल में वादियों के नज़ारे आपको वशीभूत कर लेंगे. रूपकुंड झील के चारों और जमी बर्फ़ आपके मन को मोह लेने के लिए काफ़ी है. यहां कई सालों से लोगों के कंकाल भी मिलते आ रहे हैं. इसीलिए इसकी सुंदरता रहस्यमय भी हो जाती है.

 

 

2.पैंगोंग झील

ये झील लेह से लगभग 160 किलोमीटर की दूरी पर है. बाइकर्स के बीच में ये काफ़ी प्रचलित है. इस झील के आस-पास आपको याक और पारम्परिक पोशाक पहने घूमते स्थानीय लोग मिल जायेंगे. यहां जैसी शांति आपने कभी महसूस न की होगी.

 

 

3.खजर

इसे भारत का मिनी स्विट्ज़रलैंड भी कहा जाता है. ये हिमाचल प्रदेश में है. यहां का घना जंगल और पक्षियों की अलग-अलग आवाजें आपका दिन बना देंगी.

 

 

4.Dzukou Valley

इस घाटी पर सैर करने का मज़ा ही कुछ और है. जहां तक निगाहें जाती हैं, वहां तक हरियाली और उबड़-खाबड़ पहाड़ियों का ही दीदार होता है.

 

 

5.Nohkalikai Falls

ये चेरापूंजी के पास ही है. 1100 फीट की ऊंचाई से गिरता पानी देखने के बाद नज़ारे देखने की तमन्ना को थोड़े पंख से लग जाते हैं. इसके नाम के पीछे भी एक इतिहास है. Nohkalikail, Ka-Likai नाम की महिला के नाम से पड़ा है. कुछ पारिवारिक कारणों के चलते इस महिला ने यहां के कूद कर अपनी जान दे दी थी.

 

 

6.Borra Caves

ये आंध्रप्रदेश में हैं. पहाड़ियों के बीच में बनी ये गुफ़ा काफ़ी पुरानी होने के बाद भी लोगों के लिए आश्चर्य का विषय बनी हुई हैं. ये अनाथागिरी की पहाड़ियों में स्थित हैं.

 

 

7.चादर झील

कश्मीर की गोद में है ये झील. यहां गर्मियों में एक नदी होती है लेकिन सर्द मौसम आते-आते उस नदी पर बर्फ़ की एक मोटी चादर जम जाती है जिस पर लोग अपने कदम रख कर नदी पर चलने के अहसास को जीते हैं.

 

 

8.अरुणाचल प्रदेश की घाटियां

ईटानगर से लेकर बोमडिला तक पूरा प्रदेश घाटियों की ही छाया में बसा हुआ है. यहां आप जिधर भी नज़र दौड़ायेंगे पेड़ों की हरियाली और फूलों की सौंधी-सौंधी खुश्बू को महसूस करेंगे.

 

 

9.Athirapally Waterfalls

केरल के कोच्चि से लगभग 78 किलोमीटर की दूरी पर है ये वॉटर फॉल. जंगलों के बीच में और तमिलनाडु की ओर जाते हुए रास्ते में आपको हाथी मिलेंगे ओर ये झरना भी.

 

 

10.Marble Rocks

झील के बीच में आपकी कश्ती और चारों ओर सीना ताने खड़ी पहाड़ियां देखने का बाद आपका मन कैसा करेगा? ये तो आपको वहां जा कर ही महसूस करना होगा. ये मध्यप्रदेश में है.

 

 

दुनिया में कम ही लोग कुछ मज़ेदार पढ़ने के शौक़ीन हैं। आप भी पढ़ें। हमारे Facebook Page को Like करें –


Contact

CONTACT US


Social Contacts



Newsletter