सेल्फी पोस्ट करने के बाद बढ़ जाती है हीनभावना: स्टडी
A woman taking an iPhone selfie at Moraine Lake.

8

सेल्फी लेना कई बार लोगों के लिए जानलेवा बन चुका है लेकिन अब एक नई स्टडी में यह बात सामने आई है कि सेल्फी लेने के कई और भी खतरनाक नतीजे होते हैं. स्टडी में पाया गया कि सेल्फी कई लोगों को कॉस्मेटिक सर्जरी कराने के लिए प्रोत्साहित कर रही है.

स्टडी के मुताबिक, सेल्फी लेने के बाद मानसिक स्थिति पर बहुत बुरा असर पड़ता है. ज्यादा सेल्फी लेने वाले लोग अधिक चिंतित महसूस करते हैं. उनका आत्मविश्वास कम हो जाता है और वे शारीरिक आकर्षक में कमी महसूस करते हैं. सेल्फी लेने वाले कई लोगों में अपने लुक को लेकर हीनभावना इस कदर बढ़ जाती है कि वे उसमें बदलाव के लिए कॉस्मेटिक सर्जरी कराने के लिए सोचने लगते हैं.

यह स्टडी एस्थेटिक क्लीनिक्स ने की है जिसमें कॉस्मेटिक सर्जरी कराने के लिए कोलकाता, दिल्ली, मुंबई और हैदराबाद स्थित एस्थेटिक क्लिनिक जाने वाले 300 लोगों को शामिल किया गया था.

इस अध्ययन में पाया गया कि किसी फिल्टर का उपयोग किए बिना सेल्फी पोस्ट करने वाले लोगों में चिंता बढ़ने और आत्मविश्वास में कमी देखी जाती है. सेल्फी लेने और उन्हें सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के बाद मूड खराब होता है और इसका सीधा असर आत्मविश्वास पर पड़ता है. जो लोग सोशल मीडिया पर अपनी सेल्फी को पोस्ट करने से पहले दोबारा सेल्फी लेते हैं या उन्हें एडिट करते हैं, वे भी बेचैनी महसूस करते हैं.

सेल्फी पोस्ट करने के बाद लोग कॉस्मेटिक सर्जरी कराने के लिए प्रेरित हो जाते हैं.

स्टडी में पाया गया कि मरीजों ने सेल्फी लेने और उन्हें सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के बाद अधिक चिंतित, आत्मविश्वास में कमी और शारीरिक रूप से आकर्षक में कमी महसूस किया. यही नहीं, जब मरीजों ने अपनी सेल्फी बार-बार ली तथा अपनी सेल्फी में बदलाव की तो सेल्फी के हानिकारक प्रभाव को महसूस किया.

स्टडी में पाया गया कि जिन लोगों में आत्मविश्वास की कमी होती है, उन पर सेल्फी का सबसे ज्यादा बुरा असर पड़ता है.


दुनिया में कम ही लोग कुछ मज़ेदार पढ़ने के शौक़ीन हैं। आप भी पढ़ें। हमारे Facebook Page को Like करें – www.facebook.com/iamfeedy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Contact

CONTACT US


Social Contacts



Newsletter