20 साल बाद मिली पिकासो की पेंटिंग, कीमत सोच भी नहीं सकते आप

0

साल 1881 को स्पेन के मलागा शहर में पाब्लो पिकासो का जन्म हुआ. पिकासो को बचपन से ही चित्र बनाना बेहद पसंद था. वो अक्सर अपने दोस्तों के विचित्र  चित्र बनाकर सबको अचरज में डाल देते थे. 20 साल पहले पाब्लो पिकासो की एक पेंटिग चोरी हो गई थी जो अब मिल गई है. आर्थर ब्रांड की मानें तो यह पेंटिग साल 1999 में एक सऊदी शेख के जहाज से चोरी होने के बाद कई सालों तक डच अंडरवर्ल्ड के अपराधियों के बीच घूमती रही.

‘डोरा मार’ नाम की इस पेंटिग को साल 1938 में चित्रित किया गया था, जिसकी कीमत आज लगभग 449 करोड़ आंकी जा रही है. दरअसल  डोरा मार पाब्लो पिकासो से बेहद प्यार करती थी. पाब्लो पिकासो की बनाई यह पेंटिंग साल 1973 तक डोरा के घर में उनकी मृत्यु तक टंगी हुई थी.

आर्थर ब्रांड पिछले साल सेंट मार्क के बीजान्टिन मोजेक को पकड़ने की वजह से सुर्खियों में आए थे. जिसे साल 1970 के दशक में साइप्रस के एक चर्च से पकड़ा गया था. आर्थर ब्रांड के अनुसार पिकासो की इस पेंटिंग को कई सालों से संपार्श्विक के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा था.

डच अखबार डी वोल्क्सक्रान्ट से बात करते हुए आर्थर ब्रांड कहते हैं, “सभी को यह लगने लगा था कि यह पेंटिग नष्ट हो गई है , जैसा कि ज्यादातर 90 प्रतिशत चोरी हुए कला से जुड़ी वस्तुओं के साथ होता है. ऐसा इसलिए भी है क्योंकि इस तरह की वस्तुओं को बेचा नहीं जाता है. अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए आर्थर ने कहा कि इस पेंटिंग को बरामद करने के बाद, उन्होंने इसे अपने घर की दीवार पर रातभर लटकाकर इस पेंटिग का आनंद उठाया.

ब्रांड ने बताया कि इस पेंटिग की खोज  साल 2015 में शुरू हुई जब उन्होंने किसी से सुना कि पिकासो की एक पेंटिग जिसे जहाज से चुराया गया था वो  नीदरलैंड में अपराधियों के पास है. उन्होंने बताया हालांकि उस समय तक उन्हें यह भी नहीं पता था कि यह पेंटिग किस बारे में है. उन्होंने बताया कई वर्षों की खोज के बाद, उन्हें पता चला कि यह पेंटिंग डोरा मार की है.

डोरा मार का जन्म साल 1907 में थियोडोरा मार्कोविच में हुआ था. डोरा एक प्रसिद्ध फोटोग्राफर और कलाकार थीं. डोरा मार और पिकासो का करीबी रिश्ता करीब नौ सालों तक चला था. पिकासो ने 1939 में डोरा की ये तस्वीर बनाई थी. तब पिकासो 58 साल के थे और डोरा 31 की. डोरा साल 1936 से लेकर 1943 तक पिकासो के साथ रिश्ते में रहीं. लेकिन 1997 में 89 वर्ष की आयु में उनका निधन हो गया. बता दें, इस पेंटिंग को कोरल आईलैंड से सऊदी अरब के शेख अब्दुल मोहसिन अब्दुलमालिक अल-शेख की लग्जरी याट से चुराया गया था.

ब्रांड ने बताया कि अब वो जानते थे कि उन्हें पिकासो की किस कलाकृति की तलाश है. जिसकी वजह से  अब वो आसानी से ऐसे लोगों तक पहुंच सकते थे जो अनजाने में इस पेंटिग को खरीद सकते थे. जिसके बाद  इस महीने की शुरुआत में ही उन्हें एक उम्मींद की किरण दिखी. कुछ समय बाद एक डच व्यापारी के दो प्रतिनिधियों ने उनसे संपर्क करते हुए बताया कि उनके क्लाइंट  के पास एक पेंटिंग है. जिसके बाद वो एम्स्टर्डम में मौजूद उसके फ्लैट में एक चादर में लपेटकर उस पेंटिग को लाए.

फ्रांस और नीदरलैंड की पुलिस के अनुसार वो पेंटिंग के आखिरी मालिक के खिलाफ मुकदमा नहीं चला सकती है. यह अब एक बीमा कंपनी द्वारा आयोजित किया जा रहा है, जो यह तय करेगा कि आगे क्या करना है.


8 views

दुनिया में कम ही लोग कुछ मज़ेदार पढ़ने के शौक़ीन हैं। आप भी पढ़ें। हमारे Facebook Page को Like करें – www.facebook.com/iamfeedy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Contact

CONTACT US


Social Contacts



Newsletter