दिवाली में पड़ोसियों पर धौंस जमाना है तो सजावट के ये 10 तरीके अपना लीजिए

0

दिवाली हिन्दू धर्म का सबसे विशेष त्यौहार है। इस त्यौहार में लोग गणेश और लक्ष्मी की बड़े श्रद्धाभाव से पूजा करते हैं। घर में मिठाईयां मंगाई जाती हैं, अच्छे पकवान बनाए जाते हैं। लोग एक दूसरे के घर त्यौहार की मुबारकबाद देने पहुँचते हैं। इन सब के बीच जो सबसे ख़ास बात है वो ये की हर घर में सजावट के लिए भी काम किया जाता है।

आमतौर पर दिवाली की तैयारी त्यौहार से हफ्ते भर पहले ही शुरू कर दी जाती है। सबसे पहले घरों में सफाई का काम होता है फिर दीवारों पर नए रंग दिए जाते हैं। असल परीक्षा शुरू होती है छोटी दिवाली और दिवाली के दिनों पर। पुराने जमाने में दीयों और फूलों के सहारे सजावट की जाती थी। जैसे-जैसे जमाना बदला सजावट के तरीके भी बदल गए। आइए आज हम बात करते हैं दिवाली पर होने वाली सजावट की। साथ ही बात करेंगे ट्रेंड में चल रहे नए सामानों की जो आपकी दिवाली में रोशनी भर देंगे।

 

झालर-लड़ी

 

 

झालर और लड़ियाँ लगाने का दौर दीयों और मोमबत्ती के बाद का दौर है। जब बिजली घर-घर तक पहुंची तो लोगों ने दिवाली के दिनों में छोटे-छोटे बल्ब की लड़ियां लगाना शुरू कर दिया। आप भी इस दिवाली रंग-बिरंगे LED वाले झालर लाकर घर को नया मिजाज दे सकते हैं।

 

रंगीन असबाब

 

 

दिवाली में सब घर की सफाई का ध्यान रखते हैं। साथ ही चादरों, तकिए के कवर और पर्दों को भी बदला जाता है। ये सब बदलते हुए अगर जरा सा ध्यान रखा जाए और इन्हें एक रंग-बिरंगा अंदाज दे दिया जाए तो पूरे घर का लुक बदल सकता है।

 

बंदनवार की सजावट

 

 
 
बंदनवार या कहें की तोरण से आप दिवाली के वक़्त अपने घर को एक अलग लुक दे सकते हैं। तोरण सामान्यतः घर पर ही बुने जाते हैं या इन्हें बाजार से भी ख़रीदा जा सकता है। इन्हें घरों के बाहर टांग दिया जाता है। बंदनवार को अमूमन लोग आम की पत्तियों और फूलों के साथ सजाते हैं।

 

बलून टुआइन लाइट्स

 

 
 
बलून लाइट भी आजकल सजावट के लिए ट्रेंड में है। इसे बाजार से खरीदा जा सकता है। साथ ही आप इसे खुद भी आसानी से बना सकते हैं। ये लाइट्स दिवाली पर आपके घर को नई रंगत प्रदान करेंगी। त्यौहार बीतने के बाद भी बाद इन लाइट्स का इस्तेमाल हो सकता है।

 

बोतल से सजावट

 

 
 
अगर आप अपने घर की सजावट के लिए कम पैसे वाला जुगाड़ खोज रहे हैं तो कांच की बोतल से बेहतर विकल्प नहीं हो सकता। अलग-अलग बोतल में रंग-बिरंगी लड़ियां डाल कर आप अपने घर को कम पैसे में ही एक नई स्टाइल दे सकते हैं। इनका इस्तेमाल दिवाली के बाद भी किया जा सकता है।

 

रंगोली

 

 
 
रंगोली सजावट का एक पारंपरिक तरीका है। इसके बिना आज भी दिवाली पूरी नहीं होती। ज्यादातर लोग इसे बनाने के लिए रंग-बिरंगे गुलाल या रंगीन चावलों का इस्तेमाल करते हैं। जिन्हें रंगोली बनाने का गुर नहीं पता उनके लिए बाजार में इसके पैटर्न मिल जाते हैं। जिसकी मदद से आसानी से रंगोली बनाई जा सकती है।
 

फूल से सजावट

 

 
 
जब दिवाली नहीं मनाई जाती होगी उसके पहले से सजावट में फूलों का इस्तेमाल हो रहा है। ये घर को एक अलग महक और अंदाज दे देते हैं। इस दिवाली आप भी फूलों के द्वारा घर की सजावट कर लोगों पर धौंस जमा सकते हैं।

 

फ्लाइंग लालटेन

 

 
 
ये भी नए दौर का नया अंदाज है। अगर आप अपने घर में लाइट्स के साथ-साथ अन्य सजावट के इंतजाम कर रहे हैं तो बाजार से हवा में उड़ने वाली ये लालटेन ला सकते हैं और उन्हें एक साथ छोड़कर आसमान में भी रौशनी बिखेर सकते हैं।

 

 

ये मुख्यतः कागज के बनाये जाते हैं जिनके नीचे वाला हिस्सा खुला होता है। इनके भीतर जल रही फ्लेम अन्दर मौजूद हवा को गर्म कर देती है और और उसके भीतर का घनत्व कम हो जाता है। हवा हल्की होते ही लालटेन ऊपर उठने लगता है।

 

दीया

 

 

दीया या दीप जिससे बना दीपावली या कहें दिवाली। जब बिजली जैसी चिड़िया का अता-पता नहीं था तब दीया घरों में रौशनी के लिए काम में लाया जाता था। पहले इसे पूजा-पाठ का हिस्सा बनाया गया। बाद में इनकी ढेरों संख्या एक कतार में लगा कर सजावट के लिए भी इस्तेमाल किया जाने लगा।

 

 
 
आज भी हर दिवाली कम संख्या में ही सही पर सजावट के लिए दीये का इस्तेमाल होता ही है। इनमें अब कई फैंसी और रंग-बिरंगे दीये भी बाजार में उपलब्ध होने लगे जिन्हें ज्यादा संख्या में ले आकर आप अपने घर को एक पारंपरिक मिजाज दे सकते हैं।

 

मोमबत्ती 

 

 
 
दिवाली पर मोमबत्ती से की जाने वाली सजावट अब आम बात हो गयी है। लेकिन अगर बाजार में जाकर नजर दौड़ाएंगे तो पारंपरिक मोमबत्तियों के अलावा आपको ढेरों फैंसी विकल्प भी दिखेंगे। आजकल मोमबत्तियों में बेहद सुन्दर वेराइटी उपलब्ध हैं जिनकी मदद से घर का पूरा अंदाज बदल सकता है।
 
 
दुनिया में कम ही लोग कुछ मज़ेदार पढ़ने के शौक़ीन हैं। आप भी पढ़ें। हमारे Facebook Page को Like करें – www.facebook.com/iamfeedy

8 views

दुनिया में कम ही लोग कुछ मज़ेदार पढ़ने के शौक़ीन हैं। आप भी पढ़ें। हमारे Facebook Page को Like करें – www.facebook.com/iamfeedy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Contact

CONTACT US


Social Contacts



Newsletter