नींद नहीं आती है तो इन 5 प्रेशर पॉइंट को दबाएं यह अनिद्रा की दिक्कत दूर करके और मन को सुकून पहुंचाएंगे

493


साल 2010 में इंटरनेशनल जर्नल ऑफ नर्सिंग स्टडीज में पब्लिश एक रिसर्च के मुताबिक, पांच सप्ताह के एक्यूप्रेशर ट्रीटमेंट के बाद ही इंसोम्निया (नींद से जुड़ा रोग) से परेशान मरीजों की हालत में सुधार पाया गया। यह रिसर्च 25 मरीजों पर की गई। ऐसे ही वर्ष 2011 में मेनोपॉज जर्नल में पब्लिश रिसर्च में पाया गया कि पोस्ट मेनोपॉज स्थिति वाली 45 महिलाओं में जिन्हें नींद न आने की शिकायत भी थी, उन्हें एक्यूप्रेशर ट्रीटमेंट देने के बाद नींद में सुधार हुआ।

साल 2010 में इंटरनेशनल जर्नल ऑफ नर्सिंग स्टडीज में पब्लिश एक रिसर्च के मुताबिक, पांच सप्ताह के एक्यूप्रेशर ट्रीटमेंट के बाद ही इंसोम्निया (नींद से जुड़ा रोग) से परेशान मरीजों की हालत में सुधार पाया गया। यह रिसर्च 25 मरीजों पर की गई। ऐसे ही वर्ष 2011 में मेनोपॉज जर्नल में पब्लिश रिसर्च में पाया गया कि पोस्ट मेनोपॉज स्थिति वाली 45 महिलाओं में जिन्हें नींद न आने की शिकायत भी थी, उन्हें एक्यूप्रेशर ट्रीटमेंट देने के बाद नींद में सुधार हुआ।

 

स्पिरिट गेट

 

1. स्पिरिट गेट

ऐसे प्रेशर डालें

  • यह पॉइंट हाथ की छोटी उंगली की लाइन में कलाई के उलटी तरफ होता है।
  • छोटे गोले की कल्पना करते हुए उस पर हल्के हाथों से ऊपर से नीचे की तरफ अथवा गोलाई में दबाव डालें।
  • दो से तीन मिनट तक इसे करें। कुछ सेकंड के लिए इस पॉइंट को दबा कर रखें।
  • ऐसे अब दूसरे हाथ में भी करें।

 

थ्री यिन इंटरसेक्शन

 

2. थ्री यिन इंटरसेक्शन

ऐसे प्रेशर डालें

  • थ्री यिन इंटरसेक्शन पॉइंट पैर में अंदर की तरफ एंकल के थोड़ा ऊपर स्थित होता है।
  • एंकल से चार उंगली ऊपर एक बड़ा गोला बनाएं।
  • अब इसमें थोड़ा गहरा दबाव डालें। इसे भी गोलाकर अथवा ऊपर से नीचे की तरफ से 4 से 5 सेकंड तक दबाएं।
  • गर्भवती महिलाएं इस पॉइंट को न दबाएं।

 

 

3. बब्लिंग स्प्रिंग

ऐसे डालें प्रेशर

  • यह पॉइंट पैर के तलवे पर होता है। पैर के अंगूठे को अंदर की तरफ मोड़ने पर तलवे में बनने वाले गड्‌ढे की आकृति के पास यह स्थित होता है।
  • पीठ के बल लेट जाएं। घुटनों को मोड़ लें।
  • अंगूठे और उंगलियों को मोड़ें।
  • अब गड्‌ढे वाले स्थान पर कुछ मिनट के लिए गोलाई में अथवा ऊपर-नीचे की तरफ दबाव डालें।

 

 

4. इनर फ्रंटियर गेट

ऐसे डालें प्रेशर

  • यह पॉइंट कलाई के पास अंदर की तरफ दोनों मुख्य नशों के बीच में होता है।
  • हाथ को सीधा करें जिसमें गदेली ऊपर की तरफ हो।
  • कलाई से लगभग तीन उंगली नीचे दोनों नसों के बीच में पॉइंट निर्धारित करें।
  • अब इस बिंदु पर गोलाई में अथवा ऊपर और नीचे की तरफ दबाव डालें।

 

 

5. विंड पूल

ऐसे डालें प्रेशर

  • विंडपूल पॉइंट्स गर्दन के ठीक पीछे गर्दन की मांसपेशियों को खोपड़ी से जोड़ने वाले स्ट्रक्चर पर स्थित होते हैं।
  • हाथों की उंगलियों को मोड़कर अंगूठे को बाहर निकालकर कप शेप बना लें।
  • अब अंगूठों द्वारा चिह्नित पॉइंट्स पर गोलाकार अथवा ऊपर-नीचे की ओर 4 से 5 सेकंड तक दबाव डालें। इससे नींद में सुधार होगा।



दुनिया में कम ही लोग कुछ मज़ेदार पढ़ने के शौक़ीन हैं। आप भी पढ़ें। हमारे Facebook Page को Like करें – www.facebook.com/iamfeedy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Contact

CONTACT US


Social Contacts



Newsletter


You cannot copy content of this page